सुशासन दिवस के रूप में मनाया गया अटल बिहारी वाजपेई का जन्म दिवस।

मसूरी : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई के जन्म दिवस पर तिलक लाइब्रेरी स्थित प्रांगण में उनकी चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया गया। कार्यक्रम में पहुंचे प्रदेश के काबीना मंत्री गणेश जोशी ने अटल बिहारी वाजपेई की चित्र पर माल्यार्पण करते हुए कहा कि भाजपा बाजपेई के जन्म दिवस को सुशासन दिवस के रूप में मना रही है।


तिलक लाइब्रेरी प्रांगण में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के 97वें जन्म दिवस पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कबीना मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य अटल बिहारी वाजपेई की बदौलत ही बना है व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसे संवार रहे हैं। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेई का मसूरी से बहुत गहरा नाता रहा है। तथा वह कई बार मसूरी में आते रहे हैं व यहां की समस्याओं की जानकारी भी रखते थे। उन्होंने उत्तराखंड राज्य का गठन कर यहां की जन भावनाओं का आदर किया व  कहा कि यदि राज्य का गठन नहीं होता तो आज वह न विधायक होते ना मंत्री होते। गणेश जोशी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेई पूरे विश्व के लोकप्रिय नेता रहे खासकर विपक्ष भी उनका मुरीद था और अटल बिहारी वाजपेई अपनी साफगोई के लिए जाने जाते रहे। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने छह साल के कार्यकाल में सुशासन बनाने का प्रयास किया व विपक्ष में रहते हुए यूएनओ में हिंदी में संबोधन दिया यह बड़ी उपलब्धि है। इस मौके पर भाजपा मसूरी मंडल के अध्यक्ष मोहन पेटवाल, महामंत्री कुशाल राणा, राजेंद्र रावत, उपाध्यक्ष राकेश अग्रवाल, अमित भटट, महिला मोर्चा अध्यक्ष पुष्पा पडियार, महिला मोर्चा जिला कोषाध्यक्ष अनीता पुंडीर, सभासद अरविंद सेमवाल, जसोदा शर्मा, राकेश ठाकुर, धर्मपाल पंवार, कपिल मलिक, नरेंद्र पडियार, सहित भाजपा के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *