BDC की बैठक में उठे ज्वलंत मुद्दे, जिलाधिकारी मयूर दीक्षित रहे मौजूद।

अरविन्द थपलियाल

उत्तरकाशी : डुंडा बीडीसी की बैठक में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों के द्वारा सड़क,रास्ते,पेयजल,बिजली,मनरेगा, राशनकार्ड बनाने जैसी ज्वलंत समस्याओं को सदन में उठाया। शुक्रवार को जिलाधिकारी मयूर दीक्षित की उपस्थिति में ब्लॉक प्रमुख डुंडा शैलेंद्र कोहली की अध्यक्षता में क्षेत्र पंचायत की बैठक हुई। बीडीसी में पीएमजीएसवाई, लोक निर्माण,ग्राम्य विकास,समाज कल्याण, शिक्षा,खाद्य,बिजली,पानी,सिंचाई,पर्यटन आदि विभागों के बारे में चर्चा की गई।

पीएमजीएसवाई के अंर्तगत चांदपुर-खरवा मोटर मार्ग,मल्ला-जखारी मोटर मार्ग,मसून-ओल्या मोटर मार्ग,जुगुल्डी-पंजियाला मोटर मार्ग,हुलयाण मोटर मार्ग के डामरीकरण की मांग जनप्रतिनिधियों द्वारा सदन में उठाई गई। तथा बरसात में इन ग्रामीण सड़क मार्ग पर मलबा आया हुआ है उसे हटाने की भी मांग की गई। ईई पीएमजीएसवाई द्वारा बताया गया कि बरसात रुकने के बाद एक सप्ताह के भीतर कार्य को पूर्ण कर लिया जाएगा।
लोनोवि के अंर्तगत नाकुरी-सिंगोट सड़क मार्ग से गढ़ गांव तक मार्ग को ठीक करने एवं डुंडा में गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग से ग्रोथ सेंटर तक पहुँच मार्ग बनाने की मांग की गई। ब्रह्मखाल -माहीडाण्डा पैदल मार्ग को दुरुस्त करने की मांग की गई। वहीं कुराह से आगे सड़क मार्ग का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू करने की मांग उठाई गई। ईई लोनिवि द्वारा 15 दिन के भीतर उक्त सड़क मार्ग का टेंडर लगाने का आश्वसन दिया गया। इसके अतिरिक्त जनप्रतिनिधियों द्वारा मनरेगा कार्यों का भुगतान समय से करने की मांग सदन में उठाई । बीडीसी में चिणाखोली, मातली,आदि गांवों में पानी की समस्या भी जनप्रतिनिधियों द्वारा बताई गई। जिसे जल संस्थान द्वारा शीघ्र निस्तारण करने का भरोसा दिया गया। विद्युत की जुलती तारों को ठीक करने व धौन्तरी गाजणा में बिजली की नियमित आपूर्ति बहाल करने की मांग की गई। जनप्रतिनिधियों द्वारा पात्र लाभार्थियों के राशनकार्ड बनाए जाने की भी मांग की।

जिलाधिकारी ने सभी ग्राम विकास अधिकारियों व मनरेगा कनिष्ठ अभियंताओं को तलब करते हुए विकासात्मक पूर्ण कार्यों की एमबी तत्काल कर भुगतान की कार्यवाही के निर्देश दिए। वहीं लंबित लघु निर्माण कार्यों का तेजी के साथ स्टिमेंट बनाने के निर्देश दिये। ताकि गांव में विकासात्मक सार्वजनिक कार्यों को तेजी से किया जा सकें। इस हेतु खंड विकास अधिकारी डुंडा को कनिष्ठ अभियंताओं व ग्राम विकास अधिकारियों के लक्ष्य निर्धारित करने को कहा। ताकि विकासात्मक कार्यों में तेजी लाकर भुगतान की कार्यवाही की जा सकें। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देशित किया कि बीडीसी में जो भी ज्वलंत समस्याएँ जनप्रतिनिधियों द्वारा उजागर की गई है उसका यथा सम्भव निस्तारण करना सुनिश्चित करें।

बैठक में एसडीएम मीनाक्षी पटवाल, परियोजना निदेशक संजय सिंह,ईई जल निगम मुकेश जोशी,जल संस्थान बलदेव सिंह डोगरा, जिला पर्यटन विकास अधिकारी प्रकाश खत्री, जिला युवा कल्याण अधिकारी विजय प्रताप भंडारी, खंड विकास अधिकारी दिनेशचंद्र जोशी सहित ग्राम प्रधानगण एवं क्षेत्र पंचायत सदस्य मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल