मसूरी – हत्या के तीन माह बाद भी खुलासा न करने पर कोतवाली में प्रदर्शन कर किया उपवास।

मसूरी : जार्ज एवरेस्ट में चाय की दुकान चलाने वाले जखनोऊ निवासी सुनील की तीन माह पूर्व हत्या का खुलासा न होने पर जौनसार क्षेत्र ग्रामीणों ने भारत संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के राष्ट्रीय संयोजक दौलत कुंवर के नेतृत्व में बाबा भीमराव अंबेडकर चौक से मालरोड होते हुए कोतवाली तक प्रदर्शन किया व कोतवाली का घेराव किया। वहीं चेतावनी दी कि यदि 15 दिनों के अंदर हत्या का खुलासा नहीं किया गया तो देहरादून में पुलिस महानिदेशक मुख्यालय में एक दिवसीय उपवास रखा जायेगा व उसके बाद भी न्याय नहीं मिला तो मुख्यमंत्री आवास पर अनिश्चित धरना किया जायेगा।


कोतवाली में प्रदर्शन के बाद एक दिवसीय उपवास कोतवाली प्रांगण में शुरू कर दिया। इस मौके पर भात संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के राष्ट्रीय संयोजक दौलत कुंवर ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि तीन माह पूर्व हुई सुनील की हत्या का खुलासा न होने पर मजबूरी में कोतवाली में प्रदर्शन व उपवास करना पड़ा। उन्होंने कहा कि पोस्ट मार्टम रिपोर्ट में चार बार गला रेतने के प्रमाण मिलने के बाद भी मित्र पुलिस इधर उधर की बात कर रही है। उन्होंने कहा कि इस संबंध में उन्होंने कोतवाल के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भी दिया है जिसमें कहा गया है कि अगर पुलिस शीघ्र हत्या का खुलासा नहीं करती तो पुलिस मुख्यालय में एक दिवसीय उपवास किया जायेगा व उसके बाद भी खुलासा नहीं हुआ तो मुख्यमंत्री आवास पर पीड़ित परिवार व क्षेत्र के लोगों के साथ अनिश्चित कालीन धरना दिया जायेगा। उन्होने कहा कि तीन माह का समय लंबा होता है व पीड़ित परिवार लगातार पुलिस के चक्कर काट रहा है। लेकिन उन्हें न्याय नहीं मिला व आरोपियों को सलाखों के पीछे नहीं किया गया यह दुर्भाग्य है। जबकि सुनील के माता पिता ने पुलिस को जिन लोगों पर शक है उनके नाम भी दिए हैं लेकिन पुलिस उस दिशा में कार्य नहीं कर रही बल्कि परिवार को फंसाने का कार्य कर रही है जिसे बर्दास्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस हत्याकांड के पीछे बड़ी साजिश है तथा राजनैतिक दबाव है जिस कारण पुलिस खुलासा नहीं कर पा रही है। वहीं सुनील की माता मुन्नी देवी का कहना है कि हमें न्याय चाहिए। लेकिन पुलिस उनके बच्चों को फंसाकर परिवार को समाप्त करना चाह रही है। पुलिस को सब बता दिया गया है कि उन्हें किन पर शक है लेकिन पुलिस कुछ नहीं कर रही। वहीं सुनील के पिता संतराम का कहना है कि पुलिस ने तीन माह बाद भी न्याय नहीं दिया जिससे आक्रोश है जबकि उनको सब कुछ बता दिया गया है। इस संबंध में कोतवाल गिरीश चंद्र शर्मा ने कहा कि तीन माह पूर्व सुनील की हत्या का मामला पंजीकृत किया गया था व उनके द्वारा विवेचना की जा रही है। इसी संबंध में पीड़ित पक्ष के लोग अन्य ग्रामीणों के साथ कोतवाली आये व उन्होंने एक ज्ञापन मुख्यमंत्री के नाम हत्या के खुलासे के लिए दिया है। उन्होंने बताया कि पुलिस को जो साक्ष्य मिले हैं उनका वैज्ञानिक परीक्षण विधि विज्ञान प्रयोग शाला में किया जा रहा है अगर उसके बाद भी मामले का खुलासा नहीं हो पाता तो जिन दो लोगों पर शंका व्यक्त की जा रही है उनका लाइव डिडेक्टिव परीक्षण किया जायेगा। लेकिन जहां तक जांच का सवाल है तो अभी तक ऐसा कोई साक्ष्य नहीं मिला है जिसके आधार पर किसी व्यक्ति को इस अभियोग में जेल भेजा जा सके। उन्होंने बताया कि परिजनों ने जिन पर शंका व्यक्त की है उनके साथ ही करीब 150 लोगों का परीक्षण किया जा चुका है लेकिन ऐसा कोई साक्ष्य या कारण अभी तक नहीं मिला जिसके आधार पर उनके खिलाफ हत्या का मामला बन सके। पुलिस लगातार विवेचना कर रही है तथा यह अंतिम चरण में है तथा शीघ्र की इसका खुलासा किया जायेगा। इस मौके पर उपवास के दौरान पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता, पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल, मेघ सिंह कंडारी, जबर सिंह वर्मा आदि ने भी अपने विचार रखे व परिवार को न्याय दिलाने की मांग करने के साथ ही उनको पूरा सहयोग देने की बात कही। इस मौके पर सचिन, छात्र संघ अध्यक्ष प्रिंस, कृष्णा गोदियाल, बिल्लू बाल्मीकि, सभासद नंद लाल सोनकर, पूर्व छावनी परिषद उपाध्यक्ष महेश चंद, पूर्व सभासद कुलदीप रावत, चांद खान सहित बड़ी संख्या में जौनसार व जौनपुर के ग्रामीण मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल