भगवान शंकर आश्रम में फाल्गुन पूर्णिमा उत्सव पर दिव्य पुष्पार्चन एवं भव्य अग्निहोत्रम अनुष्ठान।

मसूरी : आर्यम इंटरनेशनल फाउंडेशन, भारत के तत्वावधान में संचालित ग्राम क्यारकुली भट्टा स्थित भगवान शंकर आश्रय में फाल्गुन पूर्णिमा महोत्सव धूमधाम से प्रारंभ हुआ। सौभाग्यदाता अनुष्ठान में सभी प्रकार के सौभाग्य देने वाले भगवान विष्णु और महालक्ष्मी के श्री विग्रह का प्रथम दिवस पर हज़ारों पुष्पों से पुष्पार्चन किया गया।
वैदिक मंत्रोच्चार के मध्य दिव्य अग्निहोत्र से समस्त पर्वतीय क्षेत्र ईश्वरीय ऊर्जा से सुवासित हो उठा। देश विदेश से लगभग 800 आर्यम शिष्यों ने इस समारोह में भाग लिया। पूर्व निश्चित कार्यक्रम के अनुरूप आर्यम प्रकल्प में 74 महिला- पुरुषों को नवदीक्षा और अन्य 21 को मंत्रदीक्षा प्रदान की गई। ट्रस्ट के संस्थापक और कुलप्रमुख परमप्रज्ञ जगतगुरु प्रोफेसर पुष्पेन्द्र कुमार आर्यम जी महाराज के पावन सानिध्य में होलिका उत्सव के समस्त सत्र पूर्ण विधि विधान से प्रारंभ हुए। आश्रम के समस्त सांस्कृतिक पर्वों विशेषकर होली के धार्मिक, सामाजिक एवं नैतिक परिप्रेक्ष्य गुरुश्रेष्ठ ने प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि प्रदोष काल व्यापिनी फाल्गुन पूर्णिमा के दिन भद्रा रहित काल में ही होलिका दहन किए जाने का विधान है। इसका धर्मसिंधु में स्पष्ट उल्लेख है। यथा सा प्रदोष व्यापिनी भद्रा रहित ग्राह्या ट्रस्ट की अधिशासी प्रवक्ता माँ यामिनी श्री ने स्पष्ट किया कि अक्सर होली पर ऐसा भव्य अनुष्ठान किसी भी भारतीय गुरु द्वारा नहीं करवाया जाता। होली के दिन आर्यम जी महाराज ने अनुष्ठान करके आर्यम संयोगियों के जीवन में अमूल चूल परिवर्तन लाने का कार्य किया है। होली पर ऐसे आलोकिक हवन में शामिल होने से बुरी चीज़ों अथवा विचारों से हमारी रक्षा होती है। आज ही फाल्गुन पूर्णिमा से संबंधित सभी तरह के उप कर्म आश्रम में विधि विधान से संपन्न हुए।

समारोह के आयोजन में अक्षिता, हर्षिता, शालिनी श्री, सुनील कुमार आर्य, प्रीतेश आर्य, गौरव स्वामी, याशिका गुप्ता, रवि सिंह, रवि शर्मा, उत्कर्ष सिंह, हरमीत कोहली, शशिधर, रेखा सिंह, प्रशांत, श्वेता जायसवाल, अविनाश, अक्ष कुमार कुशवाहा, रामसिंह, रोहित वेदवान आदि का सहयोग रहा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *