सीटू का मसूरी नगर पालिका सभागार में पहला सम्मेलन आयोजित।

मसूरी : नगर पालिका परिषद सभागार सेंटर आफ ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन सीटू का नगर सम्मेलन आयोजित किया गया जिसमें मजदूरों के हितों के लिए एकजुट होने की बात कही गई साथ ही न्यूनतम वेतन और मजदूरों के हक हकूको की लड़ाई लड़ने के लिए सभी यूनियनों को एक छत के नीचे लाकर कार्य करने की बात कही गई।
सम्मेलन के संयोजक भगवान सिंह चौहान ने बताया कि आज मजदूर वर्ग खुद को उपेक्षित महसूस कर रहा है और महंगाई के इस दौर में बड़ी मुश्किल से अपना जीवन यापन कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह मसूरी का पहला सम्मेलन है जिसमें आशा, आंगनवाड़ी, भोजन माता, होटल कर्मचारी, आईटीएम, गढवाल मंडल निगम आदि में कार्यरत श्रमिकों को एक छत के नीचे लाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्हांेने कहा कि भाजपा की तानाशाही सरकार के खिलाफ पूरे देश के श्रमिक आंदोलनरत है व आगामी लोक सभा चुनाव में भाजपा की सरकार को बाहर करने का प्रयास किया जायेगा।
इस अवसर पर सम्मेलन के मुख्य अतिथि सीटू के प्रांतीय अध्यक्ष राजेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा श्रम कानून समाप्त किया जा रहे हैं जिसके लिए सभी यूनियन मिलकर अपनी लड़ाई लड़ रही है तथा पूरे देश में श्रमिक आंदोलन कर रहे है इसमें सभी यूनियनें एक मंच पर आकर केंद्र सरकार के खिलाफ लामबंद होकर आंदोलन कर रही हैं। उन्होंने कहा कि मसूरी में भी विभिन्न संस्थाओं में कार्यकर रहे श्रमिकों को एक किया जा रहा है तथा उनकी एक कमेटी बनाई जायेगी तथा जिस संस्था के श्रमिकों का शोषण किया जायेगा वही सभी यूनियने एक साथ मिलकर आंदोलन करेंगी जिससे ताकत बढेगी।

जिला महामंत्री लेखराज ने कहा कि मजदूरों को 26000 न्यूनतम वेतन दिया जाना चाहिए साथ ही बेरोजगार लोगों को रोजगार देने के लिए सरकार को काम करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आने वाले लोकसभा चुनाव में सरकार को इसका परिणाम भुगतना होगा। उन्होंने कहा कि मसूरी में पहली बार सीटू का गठन किया जायेगा व यह पहला सम्मेलन है। इस मौके पर शूरवीर भंडारी, विक्रम बलूड़ी, गंभीर सिंह पवार, त्रिलोक चौहान सहित बड़ी संख्या में आशा, आंगनवाडी, भोजनमाता, व अन्य संस्थानों के श्रमिक मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल