उत्तराखंड में रेल यातायात में वन विभाग के प्रतिबंध से हो रहा है विलंब – महाप्रबंधक आशुतोष गंगल

मसूरी : उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि उत्तराखंड के मुख्य सचिव के साथ बैठक में उत्तराखंड में रेल योजनाओं के विस्तारीकरण को लेकर चर्चा की जाएगी, उन्होंने कहा कि वाइल्ड लाइफ और वन विभाग के प्रतिबंधों के कारण रेल योजनाओं का विस्तारीकरण नहीं हो पा रहा है इस संबंध में राज्य सरकार के साथ वार्ता कर विस्तारीकरण के लिए आगे की कार्य योजना बनाई जाएगी। उन्होंने कहा की ओक ग्रोव स्कूल को और अधिक आधुनिक बनाने के लिए लगातार कार्य किया जा रहा है और इसे उत्कृष्ट स्कूल बनाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं जिसके तहत आधुनिक उपकरणों से विद्यालय को लैस किया जा रहा है। उन्होंने रेल आरक्षण को बंद किए जाने पर कहा कि अब ऑनलाइन बुकिंग अधिक हो रही है इसलिए कुछ विंडो को बंद किया जा रहा है लेकिन सभी विंडो बंद नहीं है। उन्होंने विद्यालय में बाहरी बच्चों के प्रवेश पर कहा कि मुख्यतः यह विद्यालय रेलवे के कर्मचारियों के लिए है क्यो कि उनका स्थानातंरण होता रहता है ऐसे में उनके बच्चे एक स्थान पर पढ़ सकें वहीं कहा कि ऐसा नहीं कि बाहरी बच्चे नहीं लिए जा रहे अभी सात से आठ प्रतिशत बाहर के बच्चे है लेकिन विद्यालय की क्षमता के अनुसार ही प्रवेश दिया जाता है उसमें प्राथमिकता रेलवे के कर्मचारियों के बच्चों के लिए है। इस मौके पर उन्होंने कहा कि विद्यालय को विभिन्न क्रियाक्लापों व विभागों को छह लाख रूपये देने की घोषणा की गई है।
मसूरी पहुुंचे उत्तर रेलवे महाप्रबंधक से मिलने पहुंचे उत्तर रेलवे मेन्स कर्मचारी यूनियन के सदस्यों से महाप्रबंधक समयाभाव के कारण नहीं मिले जिससे कर्मचारियों में आक्रोश पैदा हो गया हालांकि उन्होंने ज्ञापन ले लिया जिसमें मांग की गई कि डोईवाला से रायवाला के बीच घाट सेक्शन में हाथियों की आवाजाही रोकने का प्रबंध किया जाय, ओकग्रोव स्कूल में ग्रुप डी के 36 रिक्त पदों पर नियुक्ति की जाय, स्वास्थ्य इकाई को उपमंडल चिकित्सालय बनाया जाय ताकि छह सौ बच्चों व 250 कर्मचारियों को चिकित्सा सुविधा का लाभ मिल सके, ओकग्रोव में पीने के पानी की व्यवस्था की जाय, स्वास्थ्य इकाई में रिक्त पदों पर भर्ती की जाय, स्टाफ क्वाटरों की मरम्मत की जाय, ऋषिकेश में रेलवे कर्मचारियों के लिए आवास की व्यवस्था की जाय।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल