विकासखडं नौगांव में जांच टीम और शिकातकर्ता के बिच हुये बबाल ने पकडा़ तूल, कर्मीयों का कार्य बहिष्कार।

रिपोर्ट – अरविन्द थपलियाल

नौगांव/उत्तरकाशी : बड़कोट तहसील के पाली गांव में जांच टीम व शिकायतकर्ता के बीच खूब हाथापाई हुई। टीम शिकायतकर्ता की शिकायत पर अनियमितताओं की जांच के लिए गांव पहुंची थी। यहां वी‌डियो क्लिप बनाए जाने को लेकर टीम व शिकायतकर्ता के बीच विवाद हो गया। हाथापाई अब सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। जांच टीम में शमिल खंड विकास अधिकारी ने इस संबंध में बड़कोट ‌थाने में शिकायत दर्ज कराई है।

खंड विकास अधिकारी दिने चंद जोशी ने बताया कि जांच टीम जांच कर रही थी तो शिकायतकर्ता का बेटा विडियों बना रहा था जब उन्हे विडियो ना बनाने को कहा गया तो वह लोग हाथापाई पर उतारू हो गये।

दूसरी ओर शिकायत कर्ता ने जांच टीम पर प्रधान के पक्ष में जांच करने का आरोप लगाया बताया कि यदि निष्पक्ष जांच हो रही थी तो डर किस बात का था।

अब सच्चाई क्या है यह पता पुलिस की जांच में चलेगा?

मामले पर अब प्रधान संगठन नौगांव और विकाखडं के कर्मचारी जांच टीम के समर्थन में आ गये हैं और अनिश्चितकालिन हड़ताल पर विकासखडं कार्यलय के सामने बैठ गये हैं।
विकासखडं कार्यलय में अब कर्मचारियों की हड़ताल से सरकारी कार्य बाधित हो गया है।

हाथापाई का वीडियो

बीते सोमवार को पाली गांव के पुथली तोक में जांच टीम पहुंची थी। शिकायतकर्ता भीष्म राणा ने गांव में पेयजल योजना निर्माण में अनियमितता की ‌शिकायत की थी। जिस पर विकासखंड नौगांव से खंड विकास अधिकारी दिनेश जोशी, ग्राम विकास अधिकारी अनीता चौहान समेत 5 लोग की टीम जांच के लिए पहुंची थी। बीडीओ दिनेश जोशी ने बताया जैसे ही टीम ने जांच शुरु की तो शिकायतकर्ता का बेटा वीडियो बनाने लगा। उन्होंने बताया कि जब ‌शिकायतकर्ता को वीडियो बनाने के लिए मना किया तो वह भड़क गया और विवाद करने लगा। जोशी ने बताया कि शिकायतकर्ता भीष्म ने ग्राम विकास अधिकारी अनीता चौहान के साथ हाथापाई शुरु कर दी। जोशी ने बताया कि इस संबंध में थाना बड़कोट में शिकायत दर्ज कराई गई है। शिकायतकर्ता भीष्म सिंह ने कहा कि ग्राम विकास अधिकारी अनीता चौहान ने उनके बेटे के साथ छीना झपटी और हाथापाई की।

वहीँ प्रभारी निरीक्षक गजेंद्र बहुगुणा ने बताया कि खंड विकास अधिकारी की शिकायत पर भीष्म राणा व एक अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

सोशल मीडिया में हो रहा वीडियो वायरल

जांच टीम व ‌शिकायत कर्ता के बीच हाथापाई का वीडियो सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। तथाकथित वीडियो में ग्राम विकास अधिकारी की ओर से छीना झपटी की शुरुआत दिखाई दे रही है। बताया जा रहा है कि जांच टीम ने शिकायतकर्ता को वीडियो बनाने से रोका था। जबकि जांच के दौरान वीडियो बनाया जाना आम बात है। यदि जांच टीम वीडियो बनाने से नहीं रोकती तो यह विवाद नहीं होता।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल