काशी पधारे जगद्गुरु शङ्कराचार्य, करेंगे मूल विश्वनाथ मन्दिर की परिक्रमा।

रिपोर्ट – विनय उनियाल

उत्तरप्रदेश/उत्तराखंड : परमाराध्य परमधर्माधीश उत्तराम्नाय ज्योतिष्पीठाधीश्वर जगदगुरु शङ्कराचार्य स्वामिश्री: अविमुक्तेश्वरानन्द: सरस्वती ‘१००८” के आज काशी पधारने पर काशीवासियों, सन्तों व भक्तों ने अन्त्यंत हर्ष के साथ जयोद्घोष करते हुए भव्य स्वागत-वन्दन किया।

शङ्कराचार्य जी महाराज ने लखनऊ से सड़क मार्ग द्वारा काशी और राजघाट से जलमार्ग से शङ्कराचार्य घाट स्थित श्रीविद्यामठ पहुँचकर सर्वप्रथम गौ माता का दर्शन कर उनको गौग्रास खिलाया, जिसके अनन्तर वैदिक आचार्य करुणाशङ्कर मिश्र सहित मठवासियों ने शङ्कराचार्य जी महाराज का चरण पादुका पूजन कर उनका वन्दन किया। उसके बाद भक्तों ने सामूहिक रूप से शङ्कराचार्य जी महाराज की आरती उतारी।इसके बाद पूज्यपाद शङ्कराचार्य जी महाराज ने भक्तों को प्रसाद व शुभाशीष प्रदान किया। साथ ही शङ्कराचार्य जी महाराज काशी प्रवास के दौरान अनेकों धर्मानुष्ठान व माङ्गलिक कार्यक्रमों का आयोजन सम्पन्न किया जाएगा।

परमाराध्य शङ्कराचार्य जी महाराज ने कहा की आगामी 29 जनवरी को अपराह्न 3 बजे वे मूल विश्वनाथ मन्दिर की परिक्रमा करेंगे।

आगामी 2 फरवरी को पूज्यपाद शङ्कराचार्य जी महाराज माघ पर्व महोत्सव के लिए प्रयागराज प्रस्थान करेंगे जहाँ गौमाता को राष्ट्रमाता घोषित कराने हेतु चारों वर्तमान शङ्कराचार्यों के आशीर्वाद से समस्त गौ-भक्तों द्वारा गोपालमणि के नेतृत्व में सञ्चालित गौ संसद् का आयोजन किया जाएगा।

स्वागत व वंदन कार्यक्रम में प्रमुख रूप से सर्वश्री:- साध्वी पूर्णाम्बा दीदी, साध्वी शारदाम्बा दीदी, ब्रह्मचारी मुकुन्दानन्द, ब्रह्मचारी परमात्मानन्द, मीडिया प्रभारी संजय पाण्डेय, रवि त्रिवेदी, हरिनाथ दुबे, कृष्णकान्त उपाध्याय, यतीन्द्र चतुर्वेदी, रमेश उपाध्याय, श्रीप्रकाश पाण्डेय,अनुराग दुबे, अजय पाण्डेय, शारदा जी, अजित मिश्रा, सिद्धार्थ पाण्डेय, सत्यप्रकाश श्रीवास्तव, शिवकान्त मिश्रा, सावित्री पाण्डेय, सुमोना जी, सुनीता श्रीवास्तव आदि लोग प्रमुख रूप से सम्मिलित थे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *