मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने किया IYOM-2023@ ईट राइट मिलेट मेले का उद्घाटन।

टिहरी : IYOM-2023@ ईट राइट मिलेट मेले का उद्घाटन आज गंगा रिसोर्ट, शीशम झाड़ी टिहरी गढ़वाल में मुख्य अतिथि कैबिनेट मंत्री उत्तराखण्ड सरकार डाॅ. धन सिंह रावत द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया।

इंटरनेशनल ईयर ऑफ मिलेट्स 2023@ ईट राइट मिलेट मेले के अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा बेहत्तर गुणवत्ता एवं हाईजिन को मेंटेन कर रहे लोगों को सम्मानित किया गया। साथ ही मिलेट पर आधारित रंगोली प्रतियोगिता एवं पोस्टर प्रदर्शनी में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को पुरस्कार एवं सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया गया। बीज बचाओ आन्दोलन के प्रणेता विजय जड़धारी को भी मंत्री डॉ. रावत द्वारा सम्मानित किया गया।

खाद्य संरक्षा एवं औषधि प्रशासन उत्तराखण्ड के तत्वाधान में आयोजित ईट राईट मेले का उद्देश्य उत्तराखण्ड के मिलेट (मोटा अनाज यथा मंडवा, झंगोरा, बाजरा आदि) आधारित उत्पादों/खाद्य पदार्थों के संबंध में स्टेक होल्डर के सहयोग से एक मंच के माध्यम से जानकारी उपलब्ध कराना है। इसके साथ ही उत्तराखण्ड के स्थानीय उत्पादों से तैयार नये-नये स्वादिष्ट व्यंजनों को देश-विदेश में एक पहचान दिलाना है।

स्वास्थ्य मंत्री डाॅ. धन सिंह रावत ने मेले की बधाई देते हुए कहा कि प्रदेश के स्थानीय उत्पादों यथा मंडवा, झंगोरा को ब्रांड देने का काम सरकार ने वर्ष 2017 से शुरू किया है। प्रधानमंत्री द्वारा वर्ष 2021 में मिलेट की बात कही। विश्व में इसके ब्राडिंग और विस्तार हेतु इस वर्ष इंटरनेशनल ईयर आॅफ मिलेट्स 2023 मनाने का निर्णय लिया गया। कहा कि अब पूरे भारत वर्ष में सरकारी कार्यक्रमों में प्रदेश का मंडवा जायेगा। मिलेट आधारित उत्पादों की गुणवत्ता एवं इसकी अत्याधिक मांग के कारण हम स्थानीय उत्पादों की ओर अग्रसर हो रहे हैं। प्रधानमंत्री की पहल पर संसद के भोज कार्यक्रम में मोटा अनाज से तैयार किये गये स्वादिष्ट व्यंजन परोसे गये। बताया कि प्रदेश में 3-4 स्थानों में इस तरह के आयोजन करने जा रहे हैं।

कैबिनेट मंत्री डाॅ. रावत ने कहा कि सरकार ने प्रदेश को टीबी मुक्त राज्य बनाने का निर्णय लिया है। इसके तहत एक-एक टीबी मरीजों को गोद लेकर वर्ष 2024 तक टीबी मुक्त राज्य बनाया जायेगा। ब्लड डोनेशन कार्यक्रम का निर्णय लिया गया है, जिसके तहत सवा लाख से ज्यादा लोगों द्वारा रक्तदान किया गया है। इसके अलावा नशामुक्त राज्य अभियान चल रहा है। उनके द्वारा सभी इन अभियान कार्यक्रमों से जुड़कर कार्यक्रमों को सफल बनाने की अपील की गई। कहा कि वर्ष 2025 तक हमारा प्रदेश हर क्षेत्र में अग्रणी राज्यों में शामिल होगा।

जिलाधिकारी टिहरी गढ़वाल डाॅ. सौरभ गहरवार ने कहा कि स्वस्थ शरीर के लिए मिलेट्स आधारित उत्पाद बहुत लाभकारी हैं, इसलिए इन स्थानीय उत्पादों की देश-विदेश में बहुत मांग है। होटल व्यवसायी, एनजीओ इन उत्पादों पर फोकस कर रहे हैं। उनके द्वारा नई पीढी को मिलेट आधारित उत्पादों के महत्व के बारे में बताने तथा इन अनाजो के उत्पादन को बढ़ाने की बात कही गयी। कहा कि जिन उत्पादो का कल तक हम अपने घरों में उपयोग करते थे आज वे अपनी गुणवत्ता के कारण देश-दुनिया में अपनी पहचान बना रहे हैं।

साथ ही मंत्री डॉ. रावत द्वारा विभिन्न स्कूली बच्चों द्वारा अन्तर्राष्ट्रीय पोषक अनाज वर्ष पर आधारित रंगोली का निरीक्षण किया गया तथा इन उत्पादों के संबंध में बच्चों के विचार् जाने। तत्पश्चात् मेले में एफएसएसएआई द्वारा अनुमोदित एवं उच्च स्तरीय होटलों द्वारा स्वच्छ रूप से मिलेट आधारित भोजन कांउटर, एसएसएसएआई लाइसेंस/पंजीकरण कांउटर, प्रयुक्त खाद्य तेल को बायो-डीजल में बदलने का लाइव प्रदर्शन, हैल्थ कैम्प एवं विभिन्न विभागों एवं स्वयं सहायता समूह द्वारा स्थापित स्टाॅल का निरीक्षण किया गया।

इस मौके पर अपर आयुक्त खाद्य संरक्षा एवं औषधि प्रशासन ए.एस. चैहान, उपायुक्त जी.एस. कण्डवाल, मुख्य विकास अधिकारी मनीष कुमार, सीएमओ डाॅ. संजय जैन, सीएओ अभिलाषा भट्ट, अभिहित अधिकारी एम.एन. जोशी, जीएम डीआईसी महेश प्रकाश, डीपीआरओ एम.एम.खान सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति, व्यवसायी, जनप्रतिनिधि एवं जनसमूह मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *