मसूरी – भाजपा ने कांग्रेस के खिलाफ की नारेबाजी, युवा पीढ़ी को याद दिलाने का किया प्रयास।

मसूरी : भाजपा मसूरी मंडल ने गांधी चौक पर 25 जून 1975 को तत्कालीन कांग्रेस सरकार द्वारा लगाये गये आपातकाल को काला दिवस मनाकर याद किया। इस मौके पर बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस के खिलाफ लोकतात्रिंक अधिकारों का हनन करने पर नारेबाजी कर युवा पीढ़ी को याद दिलाने का प्रयास किया।


गांधी चौक पर एकत्र हुए भाजपा मसूरी मंडल के कार्यकर्ताओं ने आपातकाल लगाये जाने वाले दिन को काला दिवस के रूप में मना कांग्रेस के खिलाफ नारेबाजी की वहीं भाजपा के समर्थन में भी नारेबाजी की। इस मौके पर भाजपा मसूरी मंडल के अध्यक्ष मोहन पेटवाल ने कहा कि 25 जून 1975 को कांग्रेस की तत्काली प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपनी सरकार को बचाने व देश में कांग्रेस के खिलाफ हो रहे आंदोलन को दबाने के लिए मध्यरात्रि को आपात काल की घोषणा की थी जो भारत के राजनैतिक इतिहास में काले दिवस के रूप में जाना जाता है। आज की युवा पीढ़ी को उस समय कांग्रेस के अत्याचारों को बताने व याद दिलाने के लिए भाजपा पूरे देश में काला दिवस मना रही है। उन्होंने कहा कि आपात काल 21 माह तक लगाया गया जिसमें देश के नागरिकों के सभी अधिकार छीन लिए गये, विपक्षी नेताओं को जेलों में बंद कर दिया गया, यहां तक कि मीडिया को भी नहीं बक्शा। उस समय जिस किसी ने सरकार के खिलाफ बोला उन्हें जेलों में डालकर यातनाएं दी गई। यह कार्य अपनी सत्ता को बचाये रखने व निजी स्वार्थों के लिए किया गया था। इस मौके पर वरिष्ठ भाजपा नेता मदन मोहन शर्मा ने कहा कि आज के दिन तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने देश में आपातकाल घोषित किया व सभी नागरिकों के मूल अधिकार छीन लिए थे। राजनैतिक दलों, मीडिया की आजादी पर प्रतिबंध लगा दिया गया था व लोगों को छह माह से तीन साल तक जेलों में रहना पड़ा। उन्होंने उस समय को याद करते हुए कहा कि मसूरी में उस समय जनसंघ हुआ करता था तब खुशाल सिंह राणावत, कलम सिंह रावत, खेमचंद गोयल, रतन लाल, हरिराम नंदा को सूचना मिली कि उन्हें कभी भी गिरफतार किया जा सकता है। जिस पर सभी अंडर ग्राउंड को गये व अपने बच्चों व घरों से दूर हो गये। इस मौके पर जब हरिराम नंदा पैदल राजपुर से जा रहे थे तो उन्हें रास्ते में गिरफतार कर लिया गया व जेल भेज दिया गया। उसके बाद छह माह बाद फिर मसूरी लौटे व पार्टी संगठन को खड़ा करने के लिए गुप्त बैठकें की व तब भी अपने परिवारों से अपने मित्रों के यहां रहे क्यो कि तब भी पुलिस ढूढ रही थी। इस मौके पर पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल ने कहा कि कांग्रेस ने देश में आपातकाल लगा कर जो घृणित कार्य किया उसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। जिससे पूरे देश में सरकार के खिलाफ माहौल बना व यही कारण है कि आज कांग्रेस हासिए पर आ गयी है।

इस मौके पर भाजपा महामंत्री कुशाल राणा, महिला मोर्चा अध्यक्ष पुष्पा पडियार, सभासद अरविंद सेमवाल, अनीता सक्सेना, नमिता कुमाई, पालिका सभासद गीता कुमाई, सतीश ढौडियाल, सुषमा रावत, अमित भटट, युवा मोर्चा अध्यक्ष अमित पंवार, कपिल मलिक, नरेंद्र पडियार, सुनील रतूड़ी  आदि मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल