पूर्णिमा पर दी गयी छह को दीक्षा व 11 को गुरूमंत्र।

मसूरी : भगवान शंकर आश्रम क्यारकुली में गुरू पूर्णिमा के मौके पर कोरोना संकंमण को देखते हुए बहुत कम लोगों को दीक्षा व गुरूमंत्र दीक्षा दी गई जिसमें कोरोना गाइड लाइन व सोशल डिस्टेंस का पूरा पालन किया गया। अन्य को  आगामी कार्तिक पूर्णिमा पर दीक्षा व गुरूमंत्र दीक्षा दी जायेगी। इस मौके पर छह को दीक्षा व 11 को गुरूमंत्र दीक्षा दी गई।

आर्यम इंटरनेशनल फाउंडेशन के तत्वाधान में भगवान शंकर आश्रम क्यारकुली में गुरू पूर्णिमा व व्यास पूजन कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें गुरु श्रेष्ठ आर्यम जी महाराज ने छह को दीक्षा व 11 को गुरूमंत्र दीक्षा दी। उन्होंने बताया कि इस वर्ष कोविड के दृष्टिगत बहुत कम और आसपास के लोगों को ही इस पर्व में शामिल होने की अनुमति दी है। हजारों की संख्या में दीक्षा और सैंकड़ों की संख्या में गुरूमंत्र दीक्षा हेतु निवेदन प्राप्त हुए थे, जिनमें से बहुत कम लोगों को इस बार चुना गया, शेष को क्रमशः आगामी उत्सवों में शामिल किया जाएगा। कार्यक्रम में उपस्थित सभी आर्यम संयोगियों ने अपने जीवन को धर्म और संस्कार से युक्त पथ पर चलाने का प्रण लिया। उन्होंने सभी प्रकार के दुर्गुणों और व्यसनों से बचे रहने का संकल्प भी लिया। गुरू श्रेष्ठ आर्यम ने बताया कि गुरु गोरखनाथ और गुरू गोविंद सिंह के उपरांत सिर्फ उन्होंने ही मोरपंखी नीले रंग को दीक्षा हेतु अग्रसारित किया है। उन्होंने बताया कि यह रंग प्रचंड शक्ति और ऊर्जा का स्रोत है, यही सहत्ररार चक्र का रंग होने से आध्यात्मिक जगत में उछाल के लिए अत्यंत सहयोगी भी है। गुरुश्रेष्ठ के देश विदेश में हजारों अनुयायी हैं जो उनकी प्रेरणा और शिक्षा पर चलकर अपना जीवन सार्थक और सुखी बना रहे है। समारोह में सामवेद और ऋग्वेद के विशेष मंत्रों के अनुपालन में आत्म प्रतिष्ठा की गयी।

आर्यम इंटरनेशन फाउंडेशन मसूरी की अधिशासी प्रवक्ता मां यामिनी श्री ने बताया कि आर्यम संयोगी के रूप में 6 नए आत्मन दीक्षित हुए जिनमें वंशिका जज दिल्ली, प्रणपाल मौर्य, बरेली, मीना, पुराण, प्राची, प्रियांशु देहरादून, हैं। जबकि मंत्र दीक्षा में 11 संयोगी निष्णात किए गए जिनमें दीपाली श्री, वरुण देव, अनिता श्री, अलिंद्र देव, प्रविंद्र देव, प्रीतेश देव, सुनील देव, मीना श्री, सैम देव, दीप्ति श्री, रामदेव प्रमुख हैं। समारोह के आयोजन में राहुल गुप्ता , कमल शर्मा, मोहित, रश्मि आर्य, शिवम् आर्य, कुसुम मौर्य, हेमलता जज, रुचि आदि का विशेष योगदान रहा। आगामी दीक्षा समारोह कार्तिक पूर्णिमा 19 नवम्बर 2021 को आयोजित किया जाएगा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *