मसूरी – भंडारा कार्ड योजना के लाभार्थियों को दीवाली राशन की वितरित, मिट्टी के दीपकों से जगमगाएगा गाँव।

मसूरी : देवभूमि अवस्थित आर्यम इंटरनेशनल फ़ाउंडेशन के तत्त्वावधान में संचालित भगवान शंकर आश्रम द्वारा घोषित माँ अन्नपूर्णा भंडारा कार्ड योजना के अंतर्गत क्षेत्र के अति निर्धन और वंचित परिवारों को मुफ़्त मासिक घरेलू राशन वितरित किया गया।इस अवसर पर आत्मनिर्भर भारत के संकल्प को दोहराते हुए मिट्टी के दीपक भी वितरित किए गए।


आश्रम के अधिशासी प्रवक्ता माँ यामिनी श्री के अनुसार ट्रस्ट के अध्यक्ष और आश्रम के मुख्य अधिष्ठाता प्रोफ़ेसर पुष्पेंद्र कुमार आर्यम जी महाराज के निर्णय के अनुसार आश्रम द्वारा विदेशी सामान को कहें ना स्वदेशी को कहें हॉ, जैसी बहुत सी जन कल्याण कारी और मानव उत्थान की योजनाएँ संचालित की जा रही हैं। जिसको प्रोत्साहित करते हुए ग्रामीणों को हज़ारों की संख्या में मिट्टी के दीपक बाँटे जा रहे है। सरसों का तेल, रुई, खील, बताशे और अन्य पर्व सामग्री दीपावली तक बाँटी जाती रहेगी। इसे कोई भी स्थानीय नागरिक आकर आश्रम स्वागत कार्यालय से प्राप्त कर सकता है। इस सामग्री में सभी वस्तुओं की गुणवत्ता का भी ध्यान रखा गया है। इन वस्तुओं में 15 किलो गेहूँ का आटा, 10 किलो चावल, 5 किलो चीनी, दो किलो काला चना, दो लीटर सरसों का तेल, 10 किलो आलू, 5 किलो प्याज़, चायपत्ती, धनिया पावडर, लाल मिर्च, पिसी हल्दी प्रत्येक 250 ग्राम, एक किलो नमक प्रदान किया गया है। अति निर्बल, बीमार और आने में असमर्थ परिवारों को राशन उनके घरों पर भी पहुँचाया जाता है। गुरुदेव आर्यम ने कहा है कि हमें स्थानीय नागरिकों द्वारा बनाए गए सामानों को ही ख़रीदना और बेचना चाहिए। उन्होंने दीपावली पँच पर्व धनतेरस, रूपचौदस, दीपावली, गौवर्धन और भैय्या दूज की समस्त देश के नागरिकों और देवभूमि के सभी व्यक्तियों को हार्दिक शुभकामनाएँ और बधाई दीं। बच्चों द्वारा त्याग दिए गए वृद्ध व्यक्तियों ,निराश्रित विधवाओं, बेसहारों के अपंग, बीमार और अत्यंत निर्धन व्यक्तियों के लिए यह भंडारा कार्ड योजना आश्रम की तरफ़ से संचालित है जिसे शीघ्र ही अन्य अनेक स्थानों तक विस्तारित किया जाएगा। इस दीपावली को क्यारकुली गाँव मिट्टी के हज़ारों दीयों से आलोकित होगा। चाइनीज़ दीवाली सामान के बहिष्कार का आह्वान किया गया। इस बार के राशन में दीपावली पर्व का सामान भी सम्बद्ध किया गया।

सामान वितरण उत्सव में ज्ञानोदय वाटिका प्रमुख अविनाश सिंह अलग, आश्रम प्रबंधन समिति की ओर से माँ यामिनी श्री, अश्विनी कुमार, अजय त्यागी, दीपाली श्री, शिवम् आर्य,राहुल गुप्ता, गीतांजलि, पंकज भदौरिया, रवि शर्मा, कमल शर्मा, मीना आर्य, किरण, हरशु, आदि का योगदान रहा।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल