मसूरी – DM ने शहर की समस्याओं व सौंदर्यीकरण को लेकर की बैठक, अधिकारियों को लगाई फटकार, दिए निर्देश।

मसूरी : जिलाधिकारी ने सोनिका सिंह ने विगत दिनों मसूरी की समस्याओं के समाधान व विकास कार्यों पर की बैठक की समीक्षा के लिए एसडीएम सभागार में बैठक ली जिसमें गत बैठक में लिए गये निर्णयों की समीक्षा की गई लेकिन अधिकांश विभागों के कार्य में प्रगति न होने पर अधिकारियों को फटकार लगाई व चेतावनी दी कि समय पर कार्य पूरा करें।
एसडीएम सभागार में आयोजित बैठक में जिलाधिकारी ने नगर पालिका, एमडीडीए, जल निगम, लोक निर्माण विभाग, विद्युत विभाग के अधिकारियों को गत बैठक में लिए गये निर्णयों पर प्रगति न होने पर फटकार लगायी। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारी ज्ञान न दे बल्कि अपने दायित्वों का निर्वहन करने पर ध्यान दें। बैठक में माल रोड के सौदर्यीकरण, शौचालयों के निर्माण, सड़कों की मरम्मत, बाधा बन रहे विद्युत पोलों को को हटाने, अतिक्रमण पर कार्रवाई करने, विद्युत पोलों पर प्रचार सामग्री हटाने सहित अन्य विषयों पर चर्चा की गई व अधिकारियों से कार्य प्रगति पर जवाब तलब किया गया। जिलाधिकारी सोनिका सिंह ने बैठक की जानकारी देते हुए बताया कि मसूरी में अधिकतर कार्य नगर पालिका से संबंधित है व उनका दायित्व है कि वह इन समस्याओं का समयबद्ध तरीके से निराकरण करें। क्यों कि जनता के पालिका से बड़ी उम्मीदें हैं अगर कार्य नहीं होगा तो निश्चित लोगों में आक्रोश होगा। उन्होंने कहा कि मालरोड के सौेंदर्यीकरण को लेकर एमडीडीए को कई कार्य करने हैं जिसमें कुछ हो चुके हैं तथा बाकी कार्य प्रगति पर है उन्हें निर्देश दिए गये कि समय रहते उन कार्यो को पूरा किया जाय।

वहीं नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को कहा कि जो कार्य करने को पिछली बैठक में पूरा करने को कहा गया था उनमें कुछ कार्य नहीं हो पाये उन्हें निर्देशित किया गया कि समय पर कार्य पूरा करें। अतिक्रमण व अवैध निर्माण के साथ ही जिन भवनों को अवासीय में पास किया गया है उस पर व्यावसायिक गतिविधियां होने पर जिलाधिकारी द्वारा एसडीएम को कहा गया है कि वह टीम बना कर सर्वे करें व उसके बाद इन पर कार्यवाही की जायेगी। वहीं शहर के विकास कार्यो को लेकर एमडीडीए को नोडल अधिकारी बनाया गया है क्योंकि मालरोड के सौंदर्यीकरण के कार्य में अन्य विभागों का भी संबंध है ताकि वह अन्य विभागों से सामंजस्य बना कर विकास कार्यों को गति प्रदान करें व समस्याओं का समाधान करें। उन्होंने किंक्रेग पर बन रही दुकानों पर कहा कि इसके लिए एसडीएम व नगर पालिका को कहा गया है कि इस मामले का संज्ञान ले व एनएच व लोकनिर्माण विभाग के साथ मिलकर इस पर जांच करें। वहीं मैसानिक लॉज पाकिंग के लिए उन्होने एक टीम बनाकर निरीक्षण करने का निर्देश दिया है। बैठक में माल रोड बैरियर को पचास मीटर हटाने की बात भी बैठक में आयी जिस पर बैरियर को हटाने के संबंध में सर्वे किया जायेगा उसके बाद जैसा भी संभव होगा उसी अनुसार निर्णय लिया जायेगा।

जिलाधिकारी सोनिका सिंह ने कहा कि मसूरी के विकास के लिए वह लगातार नजर रखेंगी व संभव हुआ तो हर 15 दिनों में बैठक आयोति करेंगी अगर कभी न आ सकी तो एसडीएम को कार्य प्रगति देखने को कहा जायेगा। बैठक के बाद डीएम सोनिका सिंह ने खुद मैसानिक लॉज पार्किग का निरीक्षण किया। जिसमें डीएम ने पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता से पार्किंग के बारे में जानकारी ली वहीं जिलाधिकारी ने गुणवत्ता पर सवाल उठाये जिस पर पालिकाध्यक्ष ने जिम्मदारी ली व कहा कि इसकी सोयल टेस्टिंग कराई गई है इसकी रिपोर्ट आपको भेज दी जायेगी वह इस कार्य को स्वयं इसे देख रह हैं। अगर इसमें कोई नुकसान हुआ तो वह स्वयं जिम्मेदार होंगे।

बैठक में सचिव एमडीडीए मोहन सिंह बर्निया, एमडीडीए के अधिशासी अभियंता अतुल गुप्ता, लोनिवि के अधिशासी अभियंता डीसी नौटियाल, पेयजल निगम के मुख्य अभियंता सुजीत विकास, विद्युत विभाग के उपखंड अधिकारी पंकज थपलियाल, एनएच के सहायक अभियंता सुरेंद्र सिंह, नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी राजेश नैथानी, नगर अभियंता रमेश बिष्ट, भाजपा मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, उत्तराखंड होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संदीप साहनी, मसूरी ट्रेडर्स एंड वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष रजत अग्रवाल, होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय अग्रवाल, विजय रमोला, सभासद अरविंद सेमवाल, सतीश ढौडियाल, जगजीत कुकरेजा, सहित सबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल