मसूरी – ओक ग्रोव स्कूल में वृक्षारोपण के अवसर पर छात्रों को पौधों और प्रकृति के बारे में दी गई जानकारी, प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम किया गया आयोजित।

मसूरी : ओक ग्रोव स्कूल झड़ीपानी में छात्रों ने वृहत वृक्षारोपण किया। वहीं कार्यक्रम के दौरान छात्रों को पौधों और प्रकृति के बारे में संवेदनशील बनाने के उद्देश्य से जानकारी दी गई व प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम आयोजित किया गया।
उत्तर रेलवे के स्कूल ओकग्रोव में आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि डीएफओ मसूरी वन प्रभाग आशुतोष सिंह, डीएफओ आईटी देहरादून कहकशा नसीम मौजूद रहे व पेड़ लगाकर वृक्षारोपण कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

पौधरोपण अभियान पर बोलते हुए प्रधानाचार्य ओकग्रोव स्कूल अभिषेक केसरवानी ने कहा कि राष्ट्रीय वृक्षारोपण महोत्सव, वन महोत्स के दौरान पूरे भारत में सालाना लाखों पौधे लगाए जाते हैं। यह त्योहार एक सप्ताह तक चलता है और यह अन्य देशों में आर्बर दिवस की प्रसिद्ध परंपरा से मेल खाता है। केसरवानी ने आगे कहा कि वन महोत्सव की शुरुआत 1950 में तत्कालीन कृषि और खाद्य मंत्री कन्हैयालाल मणिकलाल मुंशी द्वारा भारत में की गई थी। उस वर्ष पेड़ों की पहली रोपाई लगाई गई थी। अब इसने त्योहार का रूप ले लिया है व राष्ट्रीय महत्व प्राप्त किया। यही कारण है कि यह हर साल 1 जुलाई से 7 जुलाई तक आयोजित किया जाता है। जुलाई के इन पहले सात दिनों के दौरान भारत के सभी राज्यों में लाखों पेड़ लगाए जाते हैं। यह उम्मीद की जाती है कि हर भारतीय त्योहार के दौरान कम से कम एक पेड़ लगाता है। भारत सरकार बच्चों के बीच इस त्योहार के उत्सव को बढ़ावा देती है। यही कारण है कि सभी स्कूलों कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों को पेड़ों के मुफ्त रोपाई के साथ आपूर्ति की जाती है। ओक ग्रोव बॉयज स्कूल के प्रभारी हेड मास्टर आरके नागपाल ने कहा कि छात्रों को वृक्षारोपण के महत्व के बारे में जागरूक होना चाहिए और जोर देकर कहा कि पेड़ लगाना हर व्यक्ति का नैतिक कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि स्कूली छात्रों को पौधारोपण और जागरूकता कार्यक्रमों से जोड़ा जाना चाहिए जो दूसरों को हमारे पर्यावरण के प्रति अपने सामाजिक और नैतिक कर्तव्य का एहसास करने के लिए प्रोत्साहित करेगा।

वृक्षारोपण अभियान के दौरान सुश्री कोमल केसरवानी, आशुतोष सिंह, कहकशा नसीम, डॉ दीपक सक्सेना मुख्य सलाहकार स्वास्थ्य ओक ग्रोव स्कूल, एसएस रावत, डॉ अतुल कुमार सक्सेना, विपुल रावत, अनुपम सिंह, जीडी रतूड़ी, डॉ सादिक, सलीम अहमद व शादाब आलम मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल