मसूरी – कूड़ा मुक्त बनाने के लिए कंपोस्ट खाद बनाने के लिए किया कार्यशाला का आयोजन।

मसूरी : नगर पालिका परिषद मसूरी के सभागार में हिलदारी संस्था के तत्वाधान में कूड़े के शहर स्तर पर निस्तारण कर उसका खाद बनाकर उपयोग करने व पालिका की आर्थिक बचत करने के उददेश्य से कंपोस्ट प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया।


कार्यशाला में मुबंई स्त्री मुक्ति संगठन से आई ज्योति माफसेकर ने प्रोजेक्टर के माध्यम से मुंबई को स्वच्छ बनाने में कंपोस्ट के योगदान की जानकारी दी। उन्होंने कार्यशाला में बताया कि अगर अपने घर के गीले कूड़े का प्रयोग घर पर ही कंपोस्ट कर खाद बनाये तो इससे जहां शहर कूड़ा मुक्त होगा वहीं इससे बनी जैविक खाद से हरियाली लाने व पौधों को उगाने में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि उनकी संस्था मुबंई में पिछले 50 वर्षों से सफाई व्यवस्था में कार्य कर रही है इसी के तहत मसूरी में भी होटल एसोसिएशन के पदाधिकारियों व सदस्यों सहित सामाजिक संस्थाओं के साथ कार्यशाला का आयोजन किया गया व उन्हें कूड़ा निस्तारण के बारे में जानकारी दी गई उन्होंने बताया कि मसूरी में देश-विदेश से लाखों की संख्या में पर्यटक आते हैं ऐसे में यहां पर साफ सफाई की व्यवस्था करना अति आवश्यक है। उन्होंने कहा कि अपने घर या होटल या संस्थान में अगर गीले कूड़े को कंपोस्ट किया जाय तो शहर गंदगी मुक्त हो सकता है और इसका आर्थिक लाभ भी मिलेगा। कार्यशाला में पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि नगरपालिका मसूरी स्वच्छता को लेकर बेहद गंभीर है और इसके लिए कई संस्थाएं काम कर रही हैं जिसमें हिलदारी, कीन का विशेष सहयोग है। और इसकी बदौलत आज मसूरी उत्तराखंड में स्वच्छता सर्वे में पहले स्थान पर आया है जिसके बाद जिम्मेदारी और बढ गई है कि शहर को किस तरह से साफ सुथरा रखा जाय ताकि पहली रैंकिंग को बनाये रखा जा सके। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही मसूरी में 2 करोड रुपए की लागत से सफाई मशीन मंगाई जाएगी जो माल रोड के साथ ही अन्य स्थानों पर भी सफाई व्यवस्था में काम में लाई लाई जाएगी। वहीं कहा कि शहर को डस्टबिन मुक्त बनाने का सिलसिला जारी है और अभी तक 22 डस्टबिन हटाये जा चुके हैं। कार्यशाला में कीन की निदेशक सुनीता कुंडले ने कहा कि कीन संस्था लगातार शहर की स्वच्छता में सहयोग कर रही है और इसे और अधिक जिम्मेदारी से किया जायेगा। लेकिन इसमें होटलों सहित सभी शहर वासियों का सहयोग अपेक्षित है। कार्यशाला में हिलदारी के प्रोजेक्ट प्रबंधक अरविंद शुक्ला ने बताया कि उनकी संस्था लगातार तीन वर्षो से शहर को स्वच्छ बनाने के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि मसूरी में अभी दो होटलों अजय होटल व विष्णु पैलेस ने कंपोस्ट पिट बनाये है जिसका लाभ उन्हें मिल रहा है और अब वहां का कूड़ा बाहर नहीं जा रहा है अगर सभी होटल वाले अपने यहां इस तरह के पिट बनायेगे तो शहर का कूड़ा यही पर निस्तारित होगा और इससे पालिका को हर रोज करीब पचास हजार का लाभ होगा। क्यो कि यहां का कूड़ा देहरादून शीशमबाड़ा जाता है व वहां पर उसका सुधारीकरण किया जाता है जिसमें पालिका को बहुत अधिक खर्च करना पड़ता है। अगर इसी तरह घरों में भी लोग छोटे स्तर पर गीले कूड़े का कंपोस्ट कर खाद बनायेगे तो शहर स्वच्छ होने के साथ ही खाद काम आ सकेगी। वहीं शहर में लगातार जागरूकता अभियान चलाये जा रहे हैं ताकि लोग इस ओर ध्यान दें व शहर को कूडा मुक्त बनाने की कुहिम में साथ दे। कार्यक्रम में कंपोस्ट पिट बनाकर अपने संस्थान में कूडा निस्तारण करने वाले अजय होटल के अजय रमोला व विष्णु पैलेस के आशीष गोयल को शाल भेंट कर सम्मानित किया गया। इस मौके पर उन्होंने अपने अनुभव भी शेयर किए व इसके लिए लोगों को प्रोत्साहित किया। इस मौके पर राजश्री रावत, अभिलाष ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय अग्रवाल ने सभी से शहर की स्वच्छता में योगदान देने की अपील की। कार्यक्रम में होटल एसोसिएशन के महामंत्री अजय भार्गव, दीपक गुप्ता, रूबीना अंजुम, सहित विभिन्न होटलों एवं सामाजिक संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने प्रतिभाग किया।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल