मसूरी – नहीं थम रहा जाम का झाम, पब्लिक परेशान।

मसूरी : पर्यटन नगरी में नहीं थम रहा जाम का झाम, करोड़ों की लागत से बनी पार्किग किसी के काम नहीं आ रही है। जिसके कारण स्थानीय लोगों सहित पर्यटकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। आश्चर्य की बात है कि इस बार जून के महीने में एक दिन भी ऐसा नहीं रहा जिस दिन लोगों को जाम से न जूझना पड़ा हो। यहां तकि अब तो मालरोड पर भी ऐसा ही जाम लग रहा है।
पर्यटन नगरी में पार्किग की कमी एक बार फिर से उजागर हुई है। हालांकि बड़े जोर शोर से इस सीजन में प्रशासन व पुलिस ने किंक्रेग पार्किग बनने के बाद दावा किया था कि जाम नहीं लगेगा लेकिन उनका यह दावा खोखला साबित हुआ। हाल यह है कि पुलिस पूरे दिन जाम खुलवाने में भी अपना पसीना बहा रही है। उसके बाद भी सार्थक परिणाम नहीं आ पा रहे है। हर रोज लाइब्रेरी से किंक्रेग, लाइब्रेरी से जीरो प्वाइंट, मालरोड, लंढौर रोड और अब पिक्चर पैलेस रोड पर भी जाम से जनता को जूझना पड़ रहा है। लोगों को उम्मीद थी कि किंक्रेग पर पार्किग बनने से इसका लाभ मिलेगा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। 32 करोड की लागत से लोक निर्माण विभाग ने पर्यटन विभाग के माध्यम से पार्किग तो बना दी लेकिन वहां पर कोई भी पर्यटक अपना वाहन खड़ा करने को तैयार नही है। इसके पीछे सबसे बड़ी कमी पुलिस व प्रशासन की नजर आ रही है। क्योंकि सीजन की बैठक के बाद पुलिस ने तय किया था कि किंक्रेग पार्किंग का जब तक निविदा नहीं होती उसे फ्री पार्किग के रूप में चलाया जायेगा जिसमें पुलिस टेम्पों ट्रेवलर को खड़ा करेगी क्यो कि अधिकतर जाम बड़े वाहनों के कारण ही लगता है। इस दिशा में पुलिस ने प्रयास भी किया व किंक्रेग पर टैम्पो को रोकना शुरू किया व वहां से टैक्सी यूनियन के सहयोग से शटल सर्विस शुरू की। लेकिन यह सफल नहीं हो पाया। क्यो कि पार्किग इतनी नीची बनी है कि उसमे टेंपो अंदर नहीं जा पा रहे हैं वहीं शटल सर्विस भी पर्यटकों को सही समय से नहीं मिल पा रही थी। पर्यटन विभाग को जैसे ही पता चला कि प्रशासन ने पार्किंग पुलिस के माध्यय से शुरू कर दी है तो उन्होंने पार्किंग पर अपने दो कर्मचारी तैनात कर दिए। व उनसे पैसे वसूलने लगे। ऐसे में जो पर्यटक मसूरी आ रहा है वह दो किमी नीचे पार्किग में वाहन खड़ा करने को तैयार नहीं होता जिस कारण पार्कि्रग अधिकतर समय खाली ही रहती है। इसका कोई भी लाभ इस सीजन में नहीं मिल पाया।

वहीं दूसरी ओर पर्यटन विभाग ने पार्किंग के टेंडर कर दिए है लेकिन जिसने पार्किग ली है उसने अभी कार्य शुरू नहीं किया है। वहीं पुलिस ने पहले प्रयास किया था कि टेंपो को मसूरी नहीं आने दिया जायेगा लेकिन जब पार्किंग में यह नहीं आ पाये तो उन्हें मसूरी जाने के लिए छोड़ देना पड़ा। जाम की हालत यह है कि हर दिन दो से चार किमी लंबा जाम लग रहा है और इसी तरह माल रोड पर भी जाम लग रहा है विशेष कर जहां पर सड़क संकरी है जिसमें रियाल्टो चौक, मुख्य है। इसके साथ ही मालरोड पर जाम लगने का कारण सप्लाई वाहन भी हैं जो जहां तहां खडे कर दिए जाते हैं। व निर्धारित समय के बाद भी मालरोड पर रहते हैं।

वहीँ लाइब्रेरी व पिक्चर पैलेस पालिका बैरियर के कारण भी जाम लगता है क्योंकि वहां पर बैरियर के अंदर जाने के लिए पालिका पैसा लेता है जिसमें विलंब होने के कारण जाम लग जाता है। इसके साथ ही मालरोड पर होटल वाले पर्यटकों के वाहन खड़े करवा देते हैं जिस कारण भी जाम लगता है हालंाकि पुलिस चालान करती है लेकिन हर समय पुलिस भी मौके पर नहीं रहने से वाहनों की कतार लग जाती है। वहीं इसके साथ ही नगर पालिका टाउन हाल में भी एमडीडीए ने पार्किग बनायी लेकिन उसका भी अभी तक आवंटन नही किया गया। हालांकि एमडीडीए इस पार्किग को निर्माण एजेंसी के माध्यम से चला रहा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल