मसूरी – पहाड़ों की रानी में कड़ाके की सर्दी के साथ ही पड़ रहा है जमकर पाला।

मसूरी : पहाड़ों की रानी मसूरी में भले ही अभी हिमपात न हुआ हो लेकिन ठंड चरम पर है। कड़ाकें की सर्दी पड़ने से जहां जनजीवन प्रभावित हो रहा है वहीं सड़कों पर पड़ रहा पाला दुर्घटना का कारण बन रहा है। रात के समय तापमान शून्य डिग्री से नीचे चले जाने के कारण जमकर पाला पड़ रहा है व सुबह को मकानों की छतों, सड़कों व अन्य स्थानों पर बर्फ की तरह पाला जमा होता है।


पहाड़ों की रानी मसूरी में कड़ाके की सर्दी पड़ रही है जिसके कारण जन जीवन प्रभावित हो रहा है। हालांकि अभी हिमपात की कोई संभावना नजर नहीं आ रही है लेकिन रात को मौसम अधिक ठंडा हो जाने के कारण जमकर पाला पड़ रहा है। मध्यरात्रि के बाद तापमान माइनस में जाने से लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। दिन में अगर धूप खिली हो तो लोगों को राहत मिलती है व लोग धूप सेंक कर किसी तरह दिन काट लेते है लेकिन रााित्र को कडाके की सर्दी व पाला पड़ने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है जब लोग सुबह उठते है तो बाहर घर की छतों व सड़कों पर बर्फ की तरह पाला जमा होता है। पाला पड़ने के सुबह के समय हर समय दुर्घटना का खतरा बना रहता है। घंटाघर जैन धर्मशाला, जबर खेत से बाटाघाट, जीरो प्वाइंट से आगे सड़क पर पाला पड़ने से सुबह के समय दुपहिया वाहन फिसल रहे है तथा कई बार चार पहिया वाहन भी फिसल जाते हैं वहीं पैदल चलने वालों को भी खासी परेशानियों का सामना करना पड़ता है वहीं रोड के किनारे खड़े वाहनों के शीशों व छतों पर भी पाले की मोटी परत जमीं रहती है जिसे गर्म पानी से साफ करना पड़ता है। बाहर से आने वाले पर्यटक तो पाले को बर्फ समझ बैठते हैं। सुबह के समय तापमान शून्य से नीचे रहता है और पानी जमीन पर गिराते ही जम रहा है। हालांकि ठंड को देखते हुए नगर पालिका ने अलाव जलाने शुरू कर दिए है जिससे रात्रि के समय गरीब मजूदर व आने जाने वाल पर्यटक अलाव सेंक कर ठंड से बचने का प्रयास करते हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *