जौनपुर – गैड गांव में हुआ लोक संस्कृति एवं लोकनृत्य का आयोजन।

टिहरी/धनोल्टी : पुरानी पेंशन बहाली राष्ट्रीय आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु ने उत्तराखंड दौरे के टिहरी गढवाल के जौनपुर विकासखंड के गैड गांव पहुंच कर यहां की लोक संस्कृति व पारंपरिक भोजन का आनंद लिया।
पुरानी पेंशन बहाली आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बधु के गैड गांव पहुचने पर ग्रामीणों ने पारंपरिक वाद्य यंत्रो ढोल दमाऊं रणसिंघा व लोकनृत्य के साथ स्वागत किया। गांव के पंचायती चौक पर दीप प्रज्ज्वलित कर स्वागत कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम में ग्रामीण बच्चों के द्वारा जौनपुर की लोक संस्कृति की रंगारंग प्रस्तुति दी गई जिसमें तांदी, पांडव नृत्य, सरांई, आदि लोकृनृत्यों की प्रस्तुति दी। तथा देर रात तक चले कार्यक्रम में जौनपुर की संस्कृति ने सबका मन मोह लिया।

मसूरी में पत्रकारों से बातचीत में पुरानी पेंशन बहाली आंदोलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु ने कहा कि भारत विविधताओं व विविध लोक संस्कृति का देश है लेकिन जो लोक संस्कृति उत्तराखंड के जौनपुर के गैड गांव में देखी उससे वह काफी प्रभावित हैं। उन्होंने कभी कल्पना भी नहीं की थी कि इस प्रकार की संस्कृति से वे रूबरू हो पाएंगे। उन्होंने कहा कि वह उत्तराखंड आकर धन्य हो गए हैं। साथ ही यहां की संस्कृति जो देश विदेशों में प्रसिद्ध है और पहाड़ों की रानी मसूरी का उन्होंने नाम ही सुना था लेकिन यहां आकर उसका दीदार भी किया व यहां के खुशगवार मौसम का भी आनंद लिया। मसूरी को पहाड़ों की रानी ऐसे ही नहीं कहा जाता है और इसके आसपास के लगे क्षेत्र भी बेमिसाल हैं। इस अवसर पर सूर्य सिंह पंवार ने बताया कि भारतवर्ष विविधताओं का देश है और यहां की लोक संस्कृति की अपनी अलग पहचान है उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में स्कूली छात्र छात्राओं द्वारा जौनपुर की संस्कृति प्रदर्शित की गई जिसे देखकर वहां मौजूद आगंतुकों ने उसका भरपूर आनंद लिया। उन्होंने कहा कि शिक्षक होने के नाते उनका कर्तव्य है कि वह छात्र-छात्राओं में अपनी संस्कृति को लेकर जागरूकता पैदा करें। इस मौके पर उनके साथ उनके साथ उनकी टीम के सदस्यों सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण भी मौजूद रहे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल