Video – आने वाले समय में मसूरी हैली सेवा पर्यटकों के आकर्षण का बनेगी केंद्र।

मसूरी : पर्यटन नगरी मसूरी लगातार पर्यटन के क्षेत्र में उंची उड़ान भर रहा है। जिसके तहत यहां पर अब एअर सफारी से मसूरी सहित हिमालय के दर्शन हेलीकाप्टर से कर रहे हैं। वहीं इन दिनों बर्फबारी देखने को जो आनंद हेलीकाप्टर से पर्यटकों को आ रहा है उसका कोई सानी नहीं है। शीघ्र ही मसूरी में एअरो स्पोर्टस के तहत हाटर वैलून व जैरो काप्टर भी शुरू कर रहे हैं जो भारत में पहली बार होगा।

इस संबंध में हैली सफारी के संचालक कैप्टन मनीष सैनी ने हैली पर्यटन की विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि पहले मसूरी से मसूरी दर्शन व हिमालय दर्शन ट्रायल के तौर पर शुरू किया अब उत्तराखंड पर्यटन विभाग एवं भारत सरकार से एक साल की परमिशन मिल गई है और इस सेवा को विधिवत शुरू कर दिया गया है। तथा सरकार से अपेक्षा है कि इस प्रोजेक्ट को लंबे समय के लिए शुरू किया जाय ताकि इसका लाभ पर्यटन को मिल सके। वहीं इस सेवा को दूसरे चरण में स्विटजर लैंड न्यूजीलैंड की तर्ज पर ब्रेकफास्ट टूरिज्म की ओर ले जा रहे है इसके लिए उत्तराखंड के कई सुंदर स्थलों जिसमें हर्षिल वैली, बंदरपूंछ आदि को देखा है जहां आज तक कोई नहीं जा सका। प्रयास है कि इन जगहों पर लैंडिंग की जगह मिल जाये व पर्यटकों को ब्रेकफास्ट या लंच करवा कर वापस लाया जाय। इसके लिए मसूरी, नैनीताल व हरिद्वार से पर्यटकों को लाया जायेगा। वहीं हाटर वैलून व जैरो काप्टर सेवा भी शुरू करेंगे जो भारत में पहली बार होगी। मसूरी दर्शन व हिमालय दर्शन के रेट भी कम कर दिए गये हैं और आगे और रियायत देने का प्रयास है। ताकि आम आदमी भी इस सेवा का लाभ ले सके। दूसरे चरण में स्विटजर लैंड न्यूजीलैंड की तर्ज पर ब्रेकफास्ट टूरिज्म की ओर ले जा रहे है इसके लिए उत्तराखंड के कई सुंदर स्थलों जिसमें हर्षिल वैली, बंदरपूंछ आदि को देखा है जहां आज तक कोई नहीं जा सका। प्रयास है कि इन जगहों पर लैंडिंग की जगह मिल जाये व पर्यटकों को ब्रेकफास्ट या लंच करवा कर वापस लाया जाय। इसके लिए मसूरी, नैनीताल व हरिद्वार से पर्यटकों को लाया जायेगा। इसी तर्ज पर यहा भी हैली सेवा शुरू की जायेगी। इसके लिए रेकी की गई है जिसमें बेदनी बुग्याल, दयारा बुग्याल है, तथा विभागों से लैंडिंग जोन देख रहे हैं।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *