Video – पर्यटन नगरी में नये साल का जश्न, स्थानीय व्यवसायियों ने इसलिए कि नाराजगी व्यक्त।

मसूरी : पुराने वर्ष की हंशी खुशी विदाई व नये साल का स्वागत करने बड़ी संख्या में पर्यटकों ने मसूरी आकर नये साल का जश्न जमकर मनाया। हालांकि कोरोना गाइड लाइन के तहत रात्रि को 11 बजे से कफर्यू लागू होने पर होटलों के अंदर ही जश्न मनाया। लेकिन कुठाल गेट पर पुलिस की सख्ती का प्रभाव होटल व्यवसाय पर पड़ा।

पुराने साल की विदाई व नये साल का स्वागत करने बड़ी संख्या में पर्यटक मसूरी पहुंचे व जश्न मनाया। भारी भीड़ को देखते हुए पुलिस व प्रशासन ने कई बंदिशे लगाई हैं लेकिन उसके बाद भी पर्यटक बड़ी संख्या में मसूरी पहुंचा। हालांकि इस बार रात्रि 11 बजे से कोरोना कफर्यू लागू होने से मालरोड पर मध्य रात्रि को रौनक नजर नहीं आई लेकिन उससे पहले मालरोड पर पर्यटकों ने नये साल का जश्न मनाया व कफर्यू लगने के बाद होटलों में डीजे के साथ जश्न मनाया व जमकर नृत्य किया व नये साल के शुरू होने पर बाहर बजे जमकर आतिश बाजी के बीच एक दूसरे को नये साल की बधाई दी। इस बार कोरोना के बढते मामलों को देखते हुए सरकार ने कई बंदिशें लगाई हैं जिसके तहत होटलों में भी एक साथ सौ से अधिक लोग एकत्र नहीं हो सकते रात्रि 11 बजे से कोरोना कफर्यू लगाया गया व सोशल डिस्टेंश के बीच ही कार्यक्रम आयोजित किए गये। लेकिन नये साल को मनाने के उत्साह में कोई कमी नहीं देखी गई। लोगों ने होटलों में बोन फायर के बीच बजते संगीत की धुन पर जमकर थिरके व मौज मस्ती की। वहीं स्थानीय लोगों ने घरों में रहकर ही नये साल का जश्न मनाया। नये साल का जश्न मनाने दिल्ली से आये पर्यटक शहजाद ने कहा कि मसूरी नये साल का जश्न मनाने आये है यहां आकर बहुत अच्छा लग रहा है वहीं कहा कि रात्रि 11 बजे से कोरोना कफर्यू लागू होने पर वह होटल में एन्जवाय करंेंगे। वहीं पंजाब से आये सुखमिंदर सिंह ने कहा कि नये साल पर हमेशा किसी अच्छे हिल स्टेशन पर जाते हैं ताकि पूरा साल अच्छा गुजरे इसी लिए मसूरी आये हैं यहां का मौसम  बहुत अच्छा है भले ही ठंड है लेकिन पूरा आनंद आ रहा है। रात्रि क्फर्यू पर उन्होंने कहा कि यह अच्छी बात है कोरोना को देखते हुए सरकार का सही निर्णय है ऐसे में सभी लोग घरों में नया साल मनायें व जो पर्यटक है अपने होटलों में नया साल मनायेंगे। वहीं व्यापार संघ के अध्यक्ष रजत अग्रवाल का कहना है कि नये साल पर कोठाल गेट में मसूरी पैक होने का बोर्ड लगाये जाने से मसूरी को भारी नुकसान हो रहा है व वहीं से पर्यटकों को लौटाया जा रहा है जिसके कारण मसूरी के अधिकतर होटलों में कुछ कमरे खाली हैं जबकि नये साल को लेकर होटल पैक होने की उम्मीद लोगों को थी।
वहीं दूसरी ओर प्रशासन व पुलिस ने भीड़ को देखते हुए यातायात नियंत्रण करने के लिए प्लान बनाया व कई रास्तों पर एक मार्गीय यातायात व्यवस्था की। वहीं कुठाल गेट पुलिस ने मसूरी पैक होने का बोर्ड लगा दिया व वहा से मसूरी उन्ही लोगों को आने दिया गया जिनके पास होटलों की बुकिंग थी वहीं बिना बुकिंग कराने वालों व दुपहिया पर आने वालों को वहीं से लौटा दिया गया। वहीं मसूरी आने वालों के लिए कोरोना के दो टीके लगाये जाने या आरटीपीसीआर रिपोर्ट लाना भी अनिवार्य किया गया था। जिसके कारण इस कुछ स्थानों को छोड़ कर नये साल पर जाम नहीं लगा। हालांकि लंढौर क्षेत्र के मलिंगार व कैम्पटी रोड पर जाम लगा रहा। इस संबध में सीओ नरेंद्र पंत ने कहा कि मसूरी केवल उन्हीं लोगों को आने दिया जा रहा है जिनके पास होटल की बुकिंग व आरटीपीसीआर की रिपोर्ट या दो टीके का सर्टिफिकेट होगा। वहीं जो लोग केवल हुड़दंग मचाने आते है उन पर अंकुश लगाया जायेगा व जो नहीं मानेगा उनका चालान किया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा कि नये साल पर कोरोना गाइड लाइन का पूरा पालन किया जायेगा व रात को ग्यारह बजे के बाद किसी को भी मालरोड पर नहीं आने दिया जायेगा। इस संबंध में होटल एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ भी वार्ता की गई है उन्होंने भरोसा दिलाया कि रात्रि ग्यारह बजे के बाद किसी को भी होटल से बाहर नहीं आने दिया जायेगा।
नये साल के जश्न को लेकर होटलों में अनेक प्रकार के पैकेज जारी किए गये हैं होटलों में डीजे के साथ खाने पीने की सुविधा दी जा रही है। होटल ड्राइव इन में ईक्का सिंह की नाइट आयोजित की गई जिसमें पर्यटकों ने जमकर आनंद लिया वहीं अन्य कई होटलों में नये साल पर संगीत का कार्यक्रम रखा गया है। साथ ही होटलों में सोशल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा जा रहा है व कोरोना गाइड लाइन का पूरा पालन किया जा रहा है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *