पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणों ने प्रशासन से की वार्ता।

अनिल भंडारी

श्रीनगर : पेयजल समस्याओं को लेकर आज पैंडुला के ग्रामीणों का एक शिष्ट मंडल उपजिलाधिकारी से मिलने कीर्तिनगर पहुंचा लेकिन एसडीएम के किसी कार्य से बाहर होने के कारण ग्रामीणों ने तहसीलदार से वार्ता कर अपनी मांगों को लेकर उनको अवगत करवाया गया तथा उनको पूर्व में हुए लिखित आश्वासन का हवाला देते हुए बताया गया की लगभग एक माह का समय बीत जाने पर भी विभाग ने अभी तक उनकी मांगों पर कोई कार्यवाही नहीं की गई। ग्राम प्रधान सुनय कुकशाल का कहना है कि विभाग ने उन्हें आश्वासन दिया था कि जब तक समस्या का समाधान नहीं हो जाता है तब तक विभाग उन्हें टैंकरों से पानी सप्लाई करता रहेगा लेकिन विभाग ने अभी तक यह कार्य भी नही किया। वहीं गांव के विद्यालय में भी मई 2020से पानी का संयोजन बिच्छेद कर दिया गया है जिस संबंध में दो बार लिखित देने के बावजूद नल नही जोड़ा गया जिसके चलते छात्रों व ग्रामीण को दूषित पानी पीने को मजबूर है।
वहीं तहसीलदार सुनील कुमार का कहना है दोनो विभागों ने पूर्व में हुए समझौते में दो माह का समय मांगा था दो विभागों के बीच का मामला होने के कारण थोड़ा समय लग सकता है लेकिन पानी की समस्या को लेकर विभाग को टैंकर व्यवस्था को लेकर सख्ती से आदेशित किया जाएगा कि जब तक ग्रामीणों की मांग का उचित समाधान नहीं होता है तब तक यह व्यवस्था सुचारू रहनी चाहिए।
वहीं जल संस्थान के अभियंता एम पी सिंह कहना है कि राजस्व ग्राम अमरोली को उनके आने से पूर्व चयनित किया गया था जिसका कार्य विभाग ने द्वितीय चरण में पूरा करने का लक्ष्य रखा है ।
वहीं ग्रामीणों का धरना नवें दिन भी धर्मानंद पोखरियाल की अध्यक्षता में जारी रहा ग्रामीणों ने क्षेत्रीय विधायक और विभाग के खिलाफ जमकर नारेबाजी की धरने पर उषादेवी, मंजू देवी, चंदा देवी, अनिता देवी, वैष्णवी देवी ,किरण देवी, अंजू देवी, सोहन लाल, राजीव, जगत सिंह ,गणपति प्रसाद, सूरत सिंह ,अदिति पंवार आदि बैठे।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

सोशल मीडिया वायरल